Twitter | Search | |
Search Refresh
HeMan NAMO  ( नमो: ) 🙏🙏 24 May 16
Watch it's a video of 10 slides. Jai Ho. Desh Badal raha hain
Reply Retweet Like
syed nashir raza 6 Apr 17
If anybody killed by it is not crime When a man carry a cow it is crime
Reply Retweet Like
Nirbhay Singh Oct 22
Replying to @yadavtejashwi
जो परिवार भैंस का चारा नहीं बचा पाया वो संविधान बचाएंगे
Reply Retweet Like
Vini😎 Oct 5
Replying to @wireless___mind
पहले लोग अकेले में रो लिया करते थे.... अब सोशल मीडिया पर स्टेटस डालते हैं with 50th others 😉😆😃😅😄😀😂✌😁
Reply Retweet Like
Rajendra Vyas Sep 12
अरे भाई....... समझ तो तभी जाना चाहिए था जब 1000 के बदले 2000 का नोट लायें थे कि सब दुगना होने वाला है !!😏😏
Reply Retweet Like
Shashikant Tripathi May 9
कहते हैं संघ की शाखाओं में देशभक्ति सिखायी जाती हैं, कहते हैं देश भक्तिं कुत्तों से सीखें ! कौन सही बोल रहा है , वालों ??? मोदी जी या भागवत जी ।।
Reply Retweet Like
Saroj Gopal Mar 10
65 सालों में Congress ने जो गड्ढे खोदे थे, उन्ही गड्ढों में देश को डुबोने का काम BJP कर रही हैं और उसपे मिट्टी डालने का काम AAP.....
Reply Retweet Like
Kamlesh Tiwari🚩 HSP Jan 27
हिंदूओ के हर त्योहार सम्प्रदायिक पहले से सरकारो ने घोषित कर रखा हैं अब तो 26जनवरी की रॆली की अनुमति नहीं थी कासगंज प्रशासन बता रहा हैं यनि तिरंगा यात्रा की अनुमति भी लो
Reply Retweet Like
आलोक श्रीवास्तव Jan 27
शहीद भगत सिंह ने जब असेम्बली में बम फेका था तो कहाँ था बहरो को सुनाने के लिए धमाका जरूरी था,हिन्दूओ और देश भक्तो को एक बार फिर भगत सिंह बनना पड़ेगा क्योंकि गाधीँ तब भी मुहँ छुपाये थे और आज भी
Reply Retweet Like
Kamlesh Tiwari🚩 HSP Jan 27
वंदेमातरम भारत माता की जय बोलना अब अपराध बनने लगा,पाकिस्तान जिंदाबाद बोलने वाले शांतिदूत ऒर राष्ट्र भक्त होने लगे
Reply Retweet Like
Ranjana Singh INC 3 Oct 17
खोलो दरवाजे अब डर काहे का हम जो आ रहे है @OfficeOfRG
Reply Retweet Like
#ReformCongress 2 Aug 17
सुना है के काफिले में काले झंडे दिखाए गए..
Reply Retweet Like
दांडीपान १.० 29 Jan 17
चित्रपटांनी किती कोटी कमावले याचे विश्लेषण होते परंतु सामान्यांनी मनोरंजनासाठी तेवढे कोटी गमावले यावर कुणी करत नाही
Reply Retweet Like
रविकांत ठाकुर {आप की आवाज} 1 Dec 16
सुवेरे वाला .... बड़ी मुश्किलसे तो असहिष्णुत़ा बोलना सीखा ही था की, विमुद्रीकरण शब्द आ गया लंका लगी पङी है जी हा हा हा
Reply Retweet Like
Arpana Tyagi 5 Jul 16
जहां किसानो को कर्ज माफ नही होते.... वहीं कारोबारियों को 200 करोड़ माफ कर दिए जाते हैं...!!
Reply Retweet Like
Manoj Kumar Sharma 21 Jun 16
देश का इतिहास बदल रहा हैं ,देश का नक्शा बदल रहा हैं ,बदले में रोटी की जगह योग बंट रहा हैं !...
Reply Retweet Like
Ankit Tiwadi 20 Jun 16
Reply Retweet Like
Manoj Kumar Sharma 9 Jun 16
मुंशी जी का हल्कू आज भी फटे कपड़ो में मर रहा हैं ,वो पोशाके बदल रहा हैं फिर भी कहता हैं
Reply Retweet Like
HeMan NAMO  ( नमो: ) 🙏🙏 24 May 16
Reply Retweet Like