Twitter | Search | |
ravish kumar
देखना शौक़ है। घोर पारिवारिक। अंग्रेज़ी नहीं आती । माइक्रो फिक्शन लेखक । किताब: इश्क में शहर होना । मेरा ब्लाग है, हैंडल है ।
45,065
Tweets
835
Following
1,336,074
Followers
Tweets
ravish kumar retweeted
Shivraj Singh Chouhan Jun 8
‘‘मैं केवल देह नहीं मैं जंगल का पुश्तैनी दावेदार हूँ पुश्तें और उनके दावे मरते नहीं मैं भी मर नहीं सकता मुझे कोई भी जंगलों से बेदखल नहीं कर सकता उलगुलान! उलगुलान! उलगुलान!’’-हरिराम मीणा महान क्रांतिकारी, आदिवासियों के भगवान के बल
Reply Retweet Like
ravish kumar 20 Feb 19
Replying to @LivelawH
@
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @IndianUnderDog
@RamadheerSpeaks फैज़ल दिल पे न लगे तो दिल नहीं रह जाता
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
मैं नवाज़ का बंदानवाज़ हो गया हूँ । सोमवार को छुट्टी लेकर माँझी देख आइये । कभी कभी सिनेमा देखने के साथ उसे सम्मान भी देना चाहिए ।
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @ReemaKumar4
सावधान विश्राम होगा
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @OOs619
सही बात है कि मेरा अब उसमें भी मन नहीं लगता लेकिन करना तो पड़ेगा ।
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
पढ़ना चाहिए । वरना आदमी खुद से थकने लगता है
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @twiterManish_
सब फ़र्ज़ी वाला है । आप भी खुद से बना लीजिये !
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @anilkori92
नई चीज़ें लेकर आऊँगा
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @i_ceraunophile
@prateek_pursues ये सही है । आप लोगों से ताकत और समझ दोनों मिलती है ।
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @mannu209
चार किताबें हैं । अब उनको ख़त्म करना ही है । पढ़ने के लिए कब से बेचैन हूँ
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @PraveenaLeo @AmTrehan
ग़ज़ब हैं आप लोग भाई
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @rAKESH_BHUMIHAR
विदेश नीति एक निरंतरता में चलती है पर इसका मतलब यह नहीं कि इसमें बदलाव न हों । अच्छे बदलाव हुए हैं इस सरकार में
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @wmukeshp
हमारे प्रदेश में जो जाती है वो जाता है !
Reply Retweet Like
ravish kumar 22 Aug 15
Replying to @abhishekpreetam
आदत है सबको पढ़ने और जवाब देने की । इससे जिंदगी पर बहुत असर पड़ रहा है दोस्त
Reply Retweet Like