Rajnath Singh Sep 14
हमारे पड़ोसी को अपनी आतंकवाद की नीति छोड़ देनी चाहिए नहीं तो एक दिन उसे मजबूरन छोड़नी पड़ेगी क्योंकि यदि उसकी नीतियाँ यदि नहीं बदलीं तो उसे खंड-खंड होने से दुनिया की कोई ताक़त रोक नहीं सकेगी।