Twitter | Search | |
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र'
|| प्रखर राष्ट्रवादी हूं देश के साथ कोई समझौता नही ||
184,862
Tweets
2,678
Following
8,032
Followers
Tweets
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 39m
ब्राह्मणों ने कभी किसी पर कोई अत्याचार नहीं किया ब्राह्मण हमेशा तपस्वी, दयालु, और भिक्षुक रहा है और यह प्रजाति किसी पर कोई अत्याचार कैसे कर सकता है ब्राह्मण कर्मवीर से दानी रहा है जो अपने ज्ञान से समाज को सींचता है भला वह अत्याचार कैसे कर सकता है। हां ब्राह्मण पर अत्याचार हो रहे।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 42m
मैं ब्राह्मण हूं कोई अगर कहता है कि हम जातिवादी है तो हमें ब्राह्मण होने पर गर्व होता है तो फिर मैं सहर्ष स्वीकार करता हूं कि मैं जातिवादी हूं मैं अपने समाज की आवाज को उठाता हूं किसी समाज की दवाता तो हूं नहीं न ही किसी को गलत कहता हूं फिर अन्य समाज को ब्राह्मण समाज से जलन क्यों?
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 4h
जब तक तुम जैसे कांठ के उल्लू जाति का रोना रहते रहेगें और जाति के नाम पर मुफ्त की मलाई खाएंगे जाति के नाम पर कानून बनेगें तब तक इस देश का भला नहीं हो सकता है। स्कूल, अस्पताल, रोड, तब ही चमकेंगे जब तक तुम MY समीकरण बाली राजनीति बंद कर दोगे।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' retweeted
Ashutosh Mishra 13h
15% सवर्ण है तो 15% मुस्लिम+6% सिख,ईसाई जैन,बौद्ध एवं अन्य भी है।कुल 36% हुए।15% OBC/SC/ST सामान्य में भी चयनित होते है। कुल 51% हुए। गुमराह करना बंद करे।सामंती OBC और संपन्न SC/ST को बोलो की सामान्य में आये और अपने समाज के वंचितों को हक़ दे।कब तक ब्राह्मणो/सवर्णो को कोशेंगे।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 5h
ब्राह्मण समाज का विरोध करने वाले कान खोल कर सुन लो दलित पुजारी हमें मंजूर नहीं। मंदिरों पर विशेषाधिकार ब्राह्मणों का ही था और हमेशा रहेगा।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 16h
भक भोsdk
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 16h
अपनी गां* में लगा ले ब्राह्मण समाज से नफरत करने बालों को वरनोल कम नवरत तेल की ज्यादा ठण्डा भी और चिकना भी।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 16h
Replying to @SanjuGujre
गधो से बात करने का समय नहीं चल निकल पहली फुर्सत में।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 16h
Replying to @0fficialArnab
सादर, अभिवादन
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 16h
Replying to @SanjuGujre
भाक भो.sk
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 16h
ब्राह्मण समाज की आवाज़ मजबूत करने के पक्ष में कितने लोग है सभी लोग ज्यादा से ज्यादा रिट्वीट करें सबको फॉलो करूंगा, ताकि हम संगठित और मजबूत बन सकें। ब्राह्मण समाज की मजबूती के लिए फटाफट रिट्वीट करो फॉलो करो।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 16h
चल चूतिए ब्राह्मणों ने हिंदुत्व का क्या ठेका ले रखा है।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 16h
ब्राह्मण समाज की आवाज़ उठाने पर कुछ ब्राह्मण समाज के ही गद्दार विरोध करते हैं। क्योंकि ब्राह्मण समाज से ज्यादा उनको अपने नेता और दल की चिंता हैं वह ब्राह्मण समाज से ज्यादा नेताओं और दलों को मजबूत करने में लगे हैं। ऐसे गद्दारों की भी सजा निर्धारित होनी चाहिए।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 17h
Replying to @AnupDhananjay
संस्कृत ब्राह्मणों की भाषा है ब्राह्मण समाज के ही पल्ले पड़ेगी।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 17h
अरे ब्राह्मणों तुमसे क्या रिट्वीट भी नहीं हो पा रहा है? हम दिन रात कुत्तों की तरह ब्राह्मणों को एक करके स्वाभिमान के लिए भौंकता हूं तुमसे रिट्वीट भी नहीं हो पा रहा है? अरे गुलामी की बेड़ियों में इतना भी जकड़ो कि आपने बाली पीढ़ी में आपके समाज का नामोनिशान तक न रह जाए।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 17h
ब्राह्मणों से जलन करने बालों कान खोल कर सुन लो ब्राह्मण सर्वश्रेष्ठ था और रहेगा। सभी ब्राह्मण भाईयों जमकर रिट्वीट करो।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' retweeted
Mritunjay Mishra 17h
पूजहि विप्र सकल गुण हीना । शुद्र न पूजहु वेद प्रवीणा ।। : तुलसीदास
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 17h
यह जातिगत कानून इसी हिंदूवादी सरकार की देन हैं। कुछ मूर्ख अपनी मूर्खता प्रदर्शित करके हमें जातिवादी घोषित कर हिंदुत्व का पाठ पढ़ा रहे हैं जबकि सरकार से बढ़कर कौन जातिवादी है बताओ? मैं कहता हूं सरकार जातिवादी है नहीं तो इस सिद्धांत को आप क्या कहेंगे?
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 18h
ब्राह्मणों का नाम सुनते ही कुछ लोगो की इतनी जलती है कि नीचे तक की राख हो जातीं है केवल नेकर जलना बकाया रह जाता है। जबकि ब्राह्मण बनना सब चांहते है क्योंकि ब्राह्मण श्रेष्ठ है परंतु अयोग्यों को इतना नहीं पता मन मर्जी कुछ भी कर लो ब्राह्मण जन्मजात श्रेष्ठ और गुणी है।
Reply Retweet Like
अनुज अग्निहोत्री 'स्वतंत्र' 18h
सरकार की चाटुकारिता करने बाले भी आज ज्ञान दे रहे हैं। अपनी दाल रोटी चलाओ चाटुकारिता करके बीबी के नाम पर लाखों फॉलोवर बनाकर अब जो तुम जिस धंधे में लगे हो केवल ट्रेंड कराओ ब्राह्मण समाज को अपना काम करने दो तुम्हारे जैसे लोग ही ब्राह्मण पतन के जिम्मेदार हैं।
Reply Retweet Like