Twitter | Search | |
Search Refresh
Paromita Goswami Nov 18
Reply Retweet Like
The Hindi Diary 🥀 Nov 15
Reply Retweet Like
thestorymist 22h
A poem by Ritesh Jindal on open mic event mehfil-e-khayalat organized by tameer for nojoto. Please like, comment and share.
Reply Retweet Like
thestorymist Nov 14
A poem on children's day by Sugandha agarwal. Happy children's day.
Reply Retweet Like
‎Arshi Alvi  علوی/‏‎ عرشی 3h
नफरतों का असर देखो,जानवरों का बटवारा हो गया, गाय हिंदू और बकरा मुसलमान हो गया। ये पेड़,ये पत्ते,ये शाखें भी परेशान हो जाएं, अगर परिंदे भी हिंदु और मुसलमान हो जाएं। सूखे मेवे भी ये देखकर परेशान हो जाएं, ना जाने कब नारियल हिंदु,खजूर मुसलमान हो जाएं,
Reply Retweet Like
Aye Shona 18h
• Like • Comments • Tags • Share • . . Follow 👉 ( ) Follow 👉 ( ) Follow 👉 ( ) Follow 👉 ( ) . . . . .    
Reply Retweet Like
उड़ता परिंदा..! 🕊😎😎 Nov 17
हर तरफ धुआं है हर तरफ कुहासा है जो दांतों और दलदलों का दलाल है वही देशभक्त है अंधकार में सुरक्षित होने का नाम है- तटस्थता। यहां कायरता के चेहरे पर सबसे ज्यादा रक्त है। जिसके पास थाली है हर भूखा आदमी उसके लिए, सबसे भद्दी गाली है 👌👌🤘🤘🤔🤔
Reply Retweet Like
मेरी रचना @MadhurSvar Nov 12
मेरी रचना एक मंच है जंहा पर आप कविता और कहानी के रूप में कुछ मधुर स्वर पढ़ सकते हैं या वीडियो के रूप में देख भी सकते हैं। हम आशा करते हैं की हमारा पेज आप सभी को पसंद आएगा ! अपने विचार या सुझाव हमसे साझा करते रहें! धन्यवाद ! "मेरी रचना "
Reply Retweet Like
Gulzariyat Nov 16
Reply Retweet Like
Aakash Roy Nov 17
Tu kabhi khud ko bhool jae to inn taaron se puch lena. Ye raat bhar jaagkar mujhse teri hi baatein sunte hain . . . . . .
Reply Retweet Like
Shubh Tiwari 18h
जो लिखकर फाड़ दी जाती हैं, कालजयी होती हैं, वही कविताएँ. - केदारनाथ सिंह
Reply Retweet Like
Tarksangat Nov 19
आप अपनी रचना हमें, शायरी,कविता, छोटी कहानी आदि के रूप में भेज सकते हैं|
Reply Retweet Like
Tauseef Songs Nov 18
Reply Retweet Like
Ankhi_bat Nov 16
बात, मुलाकात और याद न भी हो तो भी ठीक है,ये मोहब्बत है साहिब, वजूद-ए-हाल अपना खुद रखती
Reply Retweet Like
Jaya Raveendran Nov 15
"The confusions you build in my mind with the confessions that you withhold in your mind" ❤ . . . . . . .
Reply Retweet Like
Piyushi Roy🌸 Nov 15
I really hate the word lust YourQuote Baba YourQuote Didi Read my thoughts on at
Reply Retweet Like
DhruvShuklaGar1 Nov 13
देखो तुम्हारे बाद आँखों का क्या हश्र हुआ है ..... ये हमको ही देखने को तैयार नहीं हैं ....
Reply Retweet Like
Abhishek Bhargava Nov 12
Reply Retweet Like
Nitin Dwivedi ✍️🎦📸 Nov 12
Reply Retweet Like
Keertiraj singh solanki Nov 12
इतना देह ईश्वर मोहे की ना तो अभिमान होय ना ही अभिशाप लागे। ~कीर्तिराज
Reply Retweet Like