Twitter | Search | |
Search Refresh
Aziz.Ansari Oct 29
ये राजनीति है साहब यहाँ की बात निकलती है ..!! के जनाजे के बाद....!!!
Reply Retweet Like
सNजू बAबA 31 May 18
उप-चुनाव के नतीजे चीख-चीख कर कह रहे हैं, " की राह पर लौट आओ" इन को हल करो - 1. । 2. । एक भी चला तो 400 पार हो जाएंगे। ।।। ।।।
Reply Retweet Like
Maneesh kumar Mar 17
हद है हद सब लोग अंधे हो गए बन गए की बात करो की बात करो
Reply Retweet Like
Alka Lamba - अलका लाम्बा Mar 17
क्या कारण है कि जी ने अब तक आपने अपने नाम के आगे और जी ने शब्द क्यों नहीं जोड़ा है ? क्या आपको भी लगता है कि इन सब तमाशों से 130Cr का भारत नही चलता, से भागने,उन पर सरकार की नाकामियों को छुपाने की बजाए जवाब देने का समय है??
Reply Retweet Like
अजीमुल हक 31 Mar 18
की की बातें, हमें करने नहीं देगी उन्हें नहीं देगी वो को बचायेगी, भले मर जायें जो मुद्दे देते हों, उन्हें नहीं देगी...! ...!
Reply Retweet Like
Gaurav Dhir 7 Apr 18
जब ,भुखमरी, बेरोजगारी,भ्रष्टाचार मिटाने में असफल हो जाती है तब सरकार जनता को ?? " दंगों और " में उलझा देती है !
Reply Retweet Like
Raghuraj singh 1 Dec 17
Reply Retweet Like
पण्डित रवि शर्मा Apr 10
जनता चुनावों के समय छापेमारी और इन्कम टैक्स वसूली की अच्छी तरह से जानती है। से ध्यान मत भटकाओ।।
Reply Retweet Like
Alka Lamba - अलका लाम्बा May 10
मेरी अपील और ख़ास कर के मेरे विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं से है,की को लोकतंत्र के पर्व में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लें, के लिये, पर, और देश को बांटने वाली ताकतों के खिलाफ़ एक होकर करें। मेरी शुभकामनाएं आप सभी के साथ है। जय -जय ।।।
Reply Retweet Like
Ziaur Rahman Oct 19
Reply Retweet Like
anil srivastava.annu 2 Apr 17
, , में उलझाकर का उन से चाहती है , जिसके का कर वह में आयी है।
Reply Retweet Like
प्रज्ञेश मिश्रा 16 Apr 18
देश की को दरकिनार कर , पर बहस करा कर उनका करने में और करने में सिर्फ और सिर्फ कुछ का हाथ है।। इनपर यथोचित प्रतिबंध कर इनके को बढ़ाना होगा ।। ----प्रज्ञेश मिश्र'गोल्डेन'
Reply Retweet Like
विशाल यादव May 10
से डरता हूँ इसलिए तो से लड़ता हूँ (राजीव गाँधी)
Reply Retweet Like
Hashmat Alam 25 Feb 18
एक हीरोइन मर गई, सुनकर दुःख हुआ ?? ऐसा लगा मीडिया की तो माँ, बहन मर गयी हो या उनका सुहाग ही उजड़ गया हो से कब तक भगोगे, खबरें दिखाओ
Reply Retweet Like
अnshu शुkla #BMJ🇮🇳 12 Jun 18
मस्जिद भी चले गये साहब ,इफ्तियारी भी करली ।ईद की मुबारकबाद भी दे ददी । लगे हाथ खतना ओर करा लो साहब। । 2019 नज़दीक है ।। से भटकी बीजेपी
Reply Retweet Like
Devendra Singh 24 Jun 18
के अभाव में कांग्रेस का बुरा हाल!! को याद आया कांग्रेसी "कुकृत्य" आपातकाल!! की हत्यारी कांग्रेस आज लोकतंत्र को खतरे में बताती है ,खुद हाफिज़ सईद के साथ खडी नजर आती है? में " टुकड़े टुकड़े गैंग के साथ , गुजरात में हार्दिक व जिग्नेश के साथ?? 👇👇😂😂
Reply Retweet Like
किसान Mar 8
सभी किसान पुत्रोंसे निवेदन हैकि सिर्फ किसानोंकी आवाज बुलंद कीजिए। देश के नेता पक्ष-विपक्ष मिलकर किसान के से भटका रहे हैं।
Reply Retweet Like
Amit K. Yadav 17 Jun 17
जो बीबी को नहीं समझ पाये वो प्रेम की निशानी को क्या समझ पायेगे ।। पे सवाल करे ।। साहब रोजगार कब दोंगे ?
Reply Retweet Like
🇮🇳राजेश✍बाबूमोशाय🚩🕊🙏 Jul 17
एक आम घर के ट्रैक पर भागी और हफ्ते के अंदर,तीन गोल्ड🏅जीत लिए पर मे इसके लिए कोई पैनल/खबर/डिबेट नहीं और एक विधायक की बेटी भागा हफ्ता भर छाया रहा() ऐसे से आप सच्चे और अच्छे की उम्मीद कैसे कर सकते हैं गुणगान😢
Reply Retweet Like
🇮🇳राजेश✍बाबूमोशाय🚩🕊🙏 Jun 12
आपने किस Anchor को देखा हैं? महंगा स्वास्थ्य सरकारी ग्रामीण गरीबी/सड़के/बिजली युवा रोज़गार लाचार किसान सुविधा वंचित जनता कि उन्नति/प्रगति मे अशांति एकता-समानता जैसे पर बात/बहस/विश्लेषण व करते हुये, मैंने देखा है जी को🚩🇮🇳
Reply Retweet Like