Twitter | Search | |
Search Refresh
Ashram Ghaziabad Sep 16
Scientific reason for Indian being considered as DIVINE & PIOUS among all creatures on this earth is due to its all products...which scientifically are having very rich value !! Therefore, & says !!
Reply Retweet Like
योगेश Bailwal Sep 11
Protecting indigenous cow breeds is protecting our health, economy, culture, greenery. When we serve we serve a universal source of energy. We must differentiate between Cow Vigilantes & antisocial elements.
Reply Retweet Like
Pankaj Sep 11
एक समय वो था कि , श्री कृष्ण की पूज्यनीय थीं,और अब इंसान की मानसिकता के कारण पॉलिथीन द्वारा दर्दनाक मौत परोसी जा रही हैं।वाह रे धार्मिक इन्सान।
Reply Retweet Like
RaGhav Chaurasia Sep 17
*यूपी में को मिली लाल बत्ती की सौगात अब नहीं होंगे की सुरक्षा के दृष्टिकोण से जी द्वारा किये गए कार्यों को बहोत-बहोत बधाई बत्ती की सही जगह अब मिली हैं अब.
Reply Retweet Like
Vishal Surya Prakash Sep 15
Reply Retweet Like
praveen yadav 5h
कहा सौ गये गौमाता के नाम पर सता हतियाने वाले लोग क्यू ये हाल किया है का ये तो बता तो किया है इनका दोस
Reply Retweet Like
Abhishek Rajput🐮 Sep 12
Replying to @AbhishekXpose
सभी भाई-बहन अपने धर्म-कर्म को बिना लाज-शर्म के निभाये। शर्म उनको आनी चाइये, जो आँखि बंद कर आगे बढ़ जाते हैं।
Reply Retweet Like
Amol S kulthe (kulthiya) 🌷 Sep 17
भारत के दृढ़संकल्पि प्रधानमंत्री श्री जी के जन्मदिवस उपलक्ष में की पूजा और सेवा का कार्यक्रम आयोजन नांदेड महानगर मोर्चा के सरचिटणीस श्री द्वारा लिया गया ।
Reply Retweet Like
Gaurav pandey Sep 11
अच्छा लगा देखकर के प्रति मोदी जी का प्यार।मोदीजी से आशा करता हूं कि गौमाता को का दर्जा दिलवाकर भारत को से मुक्ति जल्द दिलवा देंगे।एक कानून गौमाता पर अतिआवश्यक है।
Reply Retweet Like
🇮🇳🇮🇳 मेरा भारत महान 🇮🇳🇮🇳 Sep 10
चाहे संयोग कहिये या नकल करने की मनमोहक अदा..ये दृश्य बहुत ही प्यारा है । अद्भुत!!, अद्वितीय!!..कल्पना!! को वास्तविकता में बदलती हुई 🙏
Reply Retweet Like
Rupesh Kumar Saigal Sep 16
Replying to @AshramBlr @YouTube
Gau ( Indian Cow ) Mahima - Sant ji Bapu via Sant Shri Asaram Bapu Ji
Reply Retweet Like
santosh parab 4h
एक ऐसा देश है जहाँ दूध के फटने पर रोने वालो की संख्या 95% है और दूध देने वाली के कटने पर रोने वालो की संख्या 5% है,
Reply Retweet Like
Sadhvi Krishna Devi Sep 16
Replying to @AsaramBapuJi
गौ-सेवा से धन-सम्‍पत्ति,आरोग्‍य आदि मनुष्‍य-जीवन को सुखकर बनाने वाले सम्‍पूर्ण साधन सहज ही प्राप्‍त हो जाते हैं। धरती के सम्पूर्ण प्राणियों को सुख प्रदान करने वाली को हमारे ऋषियों-महापुरुषों ने माता का दर्जा दिया!
Reply Retweet Like
विमल पाण्डे | Vimal Pandey 🇮🇳 Sep 11
जी आपके मंत्रालय का कार्य स्वंय प्रधानमंत्री करेंगे तो क्या यह आपको मंथन के लिये बाध्य नही करता? - क्या यह सही अवसर नही की आप उनसे उनकी आपसे अपेक्षा जाने और क्रियान्वयन करें? - क्या आप को ले कुछ ठोस क़दम उठाने में सक्षम है?
Reply Retweet Like
SHASHI MAHAN Sep 11
सोच को सलाम, काम के तो दुनिया दीवानी है। जय
Reply Retweet Like
Kishlay Kumar Sep 12
Reply Retweet Like
राjeev™🇮🇳 Sep 11
ने जैसे ही का नाम लिया भांड पत्तलकार , ओवेशी का इंटरव्यू लेने पहुँच गए क्यों भाई ....... ओवेशी 100 करोड़ हिंदुओ को बताएगा कि किसका नाम लेना या नहीं लेना ? 🙄🙄
Reply Retweet Like
Tulsi Patel🗨️ Sep 17
Replying to @op_sandwa
Reply Retweet Like
NEWS PLUS Sep 17
- जिले का यह शख्स करने जा रहा की तेरहवीं। के नाम पर करके चमकाने वालों को लेनी चाहिए सीख। पढ़ें की एक रिपोर्ट। Please open link below...
Reply Retweet Like
ʟᴏꜱᴛᴡɪɴɢ 🌊 Sep 17
Reply Retweet Like