Twitter | Search | |
Search Refresh
Rehan Hisamuddin Mar 25
Reply Retweet Like
🌹☘️आरती☘️🌹 #HTL🌿 14 Apr 18
जो में कील 🔩 बनकर चुभे, उसे हथौड़ी बन कर चाहिए ।।
Reply Retweet Like
Ařăfăť 10 Oct 17
गुटको का विज्ञापन देख कर तो मैं कन्फ्यूज्ड ही हो गया था, की मैच 👉गुवाहाटी मैं हो रही है या कानपूर👈 मैं😂😂
Reply Retweet Like
Shaan@MS✍️ Oct 3
अगर कोई तुम्हारा ✉ Ignore कर दे तो उसे ☝……. करने का ✌ देना ही मत.🤔
Reply Retweet Like
salinder Jun 19
में ही होने चाहिए यह देश हित के लिए बिल्कुल हर चुनाव में खर्च किए जाते हैं जो है अगर यह एक बार हो जाए तो अच्छा होगा पर देंगी यह लोग सुधरेंगे नहीं यह करते
Reply Retweet Like
#_rAM__sHrI__(( 007 )) Jul 26
📝 नशें की 😍 तरह हैं, 😉 ☝ आदत पड़ 😌 गई तो बिना पढ़े 😧 रह पाना ।। 😎
Reply Retweet Like
#धरा Dec 5
लौट आओ न तुम बसा ले फिर से नया संसार
Reply Retweet Like
राघवेंद्र राय 🇮🇳 Dec 5
एक बार कहो तुम मेरी हो,सौ बार न दोहराऊ मैं तो कहना.......!😍🕺 एक बार कहो बेगानी हो,अगले पल ना मर जाऊं मैं तो कहना.......!😢😏
Reply Retweet Like
किरन जैन ( देश_प्रेमी ) Aug 12
देशवासियों याद रखो...!!! ये जो तुम अपनी शान में गाडी पर पटेल,जाट,गुर्जर, चमार,ठाकुर लिखकर घूमते हो ना....!!! ! इसकी जगेह ..... लिखकर घूमना.. शान में 4 चांद लग जाएंगे...!!! ! ।।
Reply Retweet Like
Sudhanshu Rai Dec 5
बार बार ना सही , ही तो कह दो झूठा ही सही लेकिन तुमको भी मुझसे प्यार है 🙏शुभ संध्या🙏
Reply Retweet Like
Chitra Jul 6
, मेरी पर बैठी और ले गयी सारे तबसे उसके हो गये...संध्या
Reply Retweet Like
Sudhanshu Rai Dec 4
ही तो गुजरेगा , मेरा जनाजा तेरे गलियों से .....!! मेरे रूह की खुशबू से , तेरा हर एक सजर महकेगा ......!!
Reply Retweet Like
B.R.Naroli 6 May 18
दुनियां की सबसे दवाई है ...* ले लीजिए जनाब , जिन्दगी भर ही नहीं देती ...* 💐🙏 ** 💐🙏
Reply Retweet Like
Nârêndêr SîNਘ 27 Jun 17
सिर्फ बार है. *ये एक है.!* *जिंदगी तो हमे मिलती है. ही सिर्फ मिलती है! *❣दिल से❣
Reply Retweet Like
पी एम चतुर्वेदी (लेखिका) 11 May 17
Reply Retweet Like
EK Deewana Jul 14
Reply Retweet Like
Ram Nandanwar Jul 10
Reply Retweet Like
Deshbhakt - Ravi Kant Singh🇮🇳📣🍷🔫🍗 Jul 10
जी न होते तो भी न पकड़ पाती इसलिए 😢😊😢😢 ₹_फिर_बकलोल
Reply Retweet Like
अमित सिंह 😎 Jul 8
तो कोई खास नही पहनने की बस कहीं सुना था ये का बड़ा था 😎
Reply Retweet Like
विजय सिंह बोहरा🇮🇳 Jun 29
नशें की तरह होते हैं, आदत पड़ गई तो बिना पढ़े रह पाना ।। क्योंकि सब छोड़े जा रहे हैं आज कल हमें; ऐ जा ऐश कर तुझे भी है।
Reply Retweet Like