Rajeshwar Beniwal 1 Oct 18
पद पाने की इच्छा में भाजपा में शामिल हो रहे हैं कुछ लोगों की सक्रियता को देखते हुए पुराने भाजपाइयों के चेहरों की रौनक गायब है वहीं शामिल होने वाले नेताओं के साथ भी आसमान से गिरे-खजूर में अटके वाले कहावत चरितार्थ होने की संभावना बनती जा रही है।