Twitter | Search | |
Sharad Pawar
President of Nationalist Congress Party
2,353
Tweets
13
Following
1,309,706
Followers
Tweets
Sharad Pawar 1h
Replying to @PMOIndia
This year the returning monsoon devastated almost every standing crop in major parts of Maharashtra. I brought to notice this alarming situation to the kind attention of Hon. PM.
Reply Retweet Like
Sharad Pawar 1h
Replying to @PMOIndia
To take a stock of this unprecedented situation and address the concerns of distressed farmers I had visited Nashik and Vidarbha in first half of November.
Reply Retweet Like
Sharad Pawar 1h
Met Shri. Narendra Modi in Parliament today to discuss the issues of farmers in Maharashtra. This year the seasonal rainfall has created Havoc engulfing 325 talukas of Maharashtra causing heavy damage of crops over 54.22 lakh hectares of area.
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 18
नई दिल्ली में आज काँग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधीजी से भेट कर महाराष्ट्र की राजनीतिक परिस्थितियों के बारे मे चर्चा की। आनेवाले समय मे महाराष्ट्र के राजनितिक गतीविधियों पर हमारी नजर रहेगी। महागठबंधन के मित्र पक्षोंको विश्वास में लेकर हम निर्णय करेंगें।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 18
गुरुदास गुप्ताजी संसद के अॅक्टिव सदस्य थे। संसद के हर चर्चासत्रमें वह सहभागी होते। किसानों,मजदूरोंकी समस्या पर संसदमें हमेशा बोलते थे। इन सभी महानुभावोंने अपने क्षेत्र में बहुमोल योगदान दिया और देश की प्रगति में हात बंटाया। मैं इन सभी दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजली अर्पित करता हूँ।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 18
राम जेठमलानीजी कानुन के दिग्गज थे। उनके आर्ग्युमेंट सुनने मिलते तो बहोत कुछ सीखने मिलता। हमने एक दुसरे के खिलाफ चुनाव लडे पर हमारे सम्बंध मित्रत्व के थे। उनके क्षेत्र में हमारी रैली होती तब रैली खत्म होने के बाद वे हमे दावत देते थे। उनके निधन से हमने एक तज्ज्ञ व्यक्ती को खोया है।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 18
Replying to @PawarSpeaks
मैंने चुनाव जिता, उसके दुसरे दिन से चुनाव पिछे रखकर वे दिल्ली क्रिकेट की समस्याओं पर मुझसे चर्चा कर अपनी मांगे बताने लगे। जेटलीजी समस्याओं पर कभी मुझे सलाह लेते थे, तो कभी सलाह देते थे। जेटलीजी के जानेसे देश का बेहद बडा नुकसान हुआ है। मैं उन्हें श्रद्धांजली अर्पण करता हूँ।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 18
Replying to @PawarSpeaks
क्रीडा क्षेत्र में भी जेटलीजी दिलचस्पी रखते थे। वे दिल्ली क्रिकेट के अध्यक्ष थे। जब मैं बीसीसीआय का नेतृत्व करने का चुनाव लड रहा था तब मेरे खिलाफ एक गुंट कार्यरत था। उस गुंट का नेतृत्व जेटलीजी कर रहे है।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 18
मैंने स्व. अरुण जेटलीजी के जीवन के अनेक पेहलू देखे है। विद्यार्थी आंदोलनसे जो नेतृत्व तयार हुआ उन में अरुण जेटलीजी का नाम अग्रणी आता है। एबीव्हीपी में कार्यरत रह चुके जेटलीजी भारत के अर्थमंत्री बने।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 18
आज संसद के शीत सत्र की शुरवात हुई। राज्यसभा में दिवंगत नेताओं के प्रति श्रद्धांजली अर्पित की। इस समय बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्राजी की स्मृति को उजागर किया। मिश्राजी का संघटन कौशल्य अभूतपूर्व था। आज वह हमारे बीच नहीं रहे। मैं उनको श्रद्धांजली अर्पण करता हूँ।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 16
प्रादेशिक अस्मितेचा हुंकार स्वाभिमानाने मिरवणारा मराठी माणूस स्व. बाळासाहेब ठाकरे यांनी उभा केला. समाजकारणाला अग्रक्रम देणारं राजकारण, अमोघ वक्तृत्व, रोखठोक स्वभाव यामुळेच त्यांना अनुयायांचं निरपेक्ष आणि चिरंतर प्रेम मिळालं. त्यांच्या स्मृतिदिनी त्यांना विनम्र अभिवादन!
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 15
Replying to @PawarSpeaks
इसी तरह हमें आदिवासियों के हक के लिए संघटित होना होगा। बाकी लोगोंने आदिवासी समाज पर अन्याय किया मगर अब यह अन्याय हम नहीं सहेंगे। इस लढाई में मैं खुद आपके साथ खडा रहुंगा। आनेवाले समय में एक-एक पूर्णस्वरूप आदिवासी विकास कार्यक्रम बनाऐंगे।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 15
Replying to @PawarSpeaks
हमारे विधायक किरण लहामटे आदिवासी क्षेत्रसे आते है। वे ५० हजार से ज़्यादा वोटोंसे जीत कर आये है। उनके विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायकने आदिवासी समाज के साथ धोखाधड़ी की, इसलिए उन्हें लोगोंने घर पर बिठाया। आदिवासी संघटित हुए इसलिए ये हो सका।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 15
Replying to @PawarSpeaks
जो आदिवासीयों का है वह उन्हें मिलना चाहिए. आदिवासी दुसरे के थाली का खाना नहीं मांगता, पर उसे अपना हक चाहिए होता है। हमारे सरकार की कार्यकाल में आदिवासी लोगों के लिए योजना बनायी थी। पर हुकूमत बदली और सारी सेवाओं पर असर हुआ।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 15
Replying to @PawarSpeaks
आदिवासी समाज को शिक्षा देनेवाली व्यवस्था निर्माण करनी होगी। जो लोग ये कार्य कर रहे है उन लोगों को प्रोत्साहित करना होगा। इस देश को जिन्होंने खडा किया उनकी प्रगति के लिए काम करना होगा। आदिवासी यहाँ का मुलनिवासी है। इसके हक के लिए राष्ट्रीय एवं आंतरराष्ट्रीय स्तरपर विचार करना होगा।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 15
Replying to @PawarSpeaks
भारत को आझादी मिली, पर आज भी विकास आदिवासियों तक पहुँचा नहीं। गरिबी सबसे ज़्यादा आदिवासी वर्ग में है। आदिवासी विभाग आज भी पिछडा है। हमे इसपे ध्यान देना होगा, इस में बदलाव लाना होगा।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 15
Replying to @PawarSpeaks
यहाँ की जमीन, यहाँ का जंगल, यहाँ का पानी इन सभी चीजों पर यहाँ के आदिवासीयों का पहला हक है। इस समाज के लिए नेहरूजी, आंबेडकरजी ने काम किया है। संविधान के रूप में उन्हें उनका हक दिलाया। पर दुख की बात है कि आज उन्हें उनका हक नहीं मिल रहा।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 15
पिछले कई सालों से हम भगवान बिरसा मुंडा की जयंती मनाते है। मुझे खुशी है कि आज इस जयंती अवसर पर आयोजित कार्यक्रम पर मैं यहाँ उपस्थित हूँ। नागपूर यह आदिवासी समुदाय की पवित्र भूमि है। आदिवासी भाईयों ने यहाँ खून-पसीना बहाया है और आज यह समाज यहाँ इकठ्ठा हुआ है।
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 15
Replying to @PawarSpeaks
केंद्र सरकारला या नुकसानाचे गांभीर्य माहीत आहे की नाही? याची कल्पना नाही. अर्थ मंत्रालयामध्येच विमा क्षेत्र अंतर्भूत असते. त्यामुळे पिक विम्याबाबतही मी चर्चा करणार आहे. तसेच कर्जमाफी हा महत्त्वाचा विषय आहे त्यामुळे शेतकऱ्यांना कर्जमाफी मिळायला हवी, अशी आमची मागणी आहे.
Reply Retweet Like
Sharad Pawar Nov 15
Replying to @PawarSpeaks
३३ टक्के नुकसान झालेल्या पिकांचेच पंचनामा होतील, असे सरकार म्हणत आहे. मात्र मी प्रत्यक्ष पाहणी केली असता जास्त नुकसान झालेले निदर्शनास आले. त्यामुळे माझी मागणी आहे की, सरसकट पंचनामे व्हावेत, जेणेकरून निश्चित किती नुकसान झाले आहे, हे समजेल.
Reply Retweet Like