India TV Hindi Sep 12
हम सैकड़ों साल से इसके शिकार रहे हैं। दूसरे धर्म के लोग हमारे धर्म का चोला धारणकर लाखों लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ कर रहे है। स्वामी नरसिम्हानंद सरस्वती, धर्मगुरु