Twitter | Search | |
जितेन्द्र निनामा May 15
Replying to @Darkside
द्वारिका गुजरात के केशवानन्द जी को रेप के आरोप मे 7 साल की सजा भुगतनी पड़ी जबकि हाइकोर्ट ने उन्हे बाद में रिहा करके यह सिद्ध किया वो निर्दोष थे , यह निचली अदालत की मनमानी और न्यायतंत्र की ही है, जो एक निर्दोष 7 साल जेल में रहे।
Reply Retweet Like
Chhaya Sahu May 15
Replying to @Darkside
DOZENS OF PROOFS of Sant Shri Asaram Bapu Ji's INNOCENCE ignored. Isn't this ??
Reply Retweet Like