अजय गोठिया Jul 20
Replying to @anubhavsinha
कभी कभी पैर भी टिक जाए तो "ज़मीन " होने का दावा पुख्ता हो जाता है।।।