Twitter | Search | |
Abhimanyu Jha
CMO @ SabPaisa, Entrepreneur, Author, Educator, Songwriter, Among top 100 Influential Marketing Leaders Asia 2016 listed by World Marketing Congress
2,249
Tweets
263
Following
383
Followers
Tweets
Abhimanyu Jha retweeted
Traveler Girl Jul 2
Purple Sea, Bulgaria
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Salman Khan(عکس) Jun 13
वो अक्स बन के मेरी चश्म-ए-तर में रहता है अजीब शख्स है पानी के घर में रहता है - बिस्मिल साबरी
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 13
ये कैसी आग है मुझ में कि एक मुद्दत से तमाशा देख रहा हूँ मैं अपने जलने का
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 13
जो पढ़ा है उसे जीना ही नहीं है मुमकिन ज़िंदगी को मैं किताबों से अलग रखता हूँ ~ज़फ़र सहबाई
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 14
Jawab uske sawalon ka de koi kab tak Ye zindagi to musalsal sawal karti hai
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 14
एक लम्हे का सफ़र है दुनिया और फिर वक़्त ठहर जाता है चंद ख़ुशियों को बहम* करने में आदमी कितना बिखर जाता है *along with
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
गर्वित अग्रवाल Jun 14
हम भी वहीं मौजूद थे, हम से भी सब पूछा किए, हम हँस दिए, हम चुप रहे, मंज़ूर था परदा तेरा।
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 15
अदावतें थीं, तग़ाफ़ुल था, रंजिशें थीं बहुत बिछड़ने वाले में सब कुछ था, बेवफ़ाई न थी
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 15
जुस्तुजू जिस की थी उस को तो न पाया हम ने इस बहाने से मगर देख ली दुनिया हम ने
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 16
चंद लम्हों के लिए एक मुलाक़ात रही फिर न वो तू, न वो मैं और न वो रात रही
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 16
लबों पर यूँही सी हँसी भेज दे मुझे मेरी पहली ख़ुशी भेज दे अँधेरा है कैसे तेरा ख़त पढ़ूँ लिफ़ाफ़े में कुछ रौशनी भेज दे
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Anoorva Sinha Jun 16
जब भी मिलती है मुझे अजनबी लगती क्यूँ है, ज़िंदगी रोज़ नए रंग बदलती क्यूँ है !! -शहरयार
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 17
शब-ए-विसाल है गुल कर दो इन चराग़ों को ख़ुशी की बज़्म में क्या काम जलने वालों का ~दाग़ देहलवी
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 18
Aankh tumhari mast bhi hai aur masti ka paimana bhi Ek chhalakte saghar mein, mai bhi hai mai-KHana bhi
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 18
आज फिर बुझ गए जल जल के उमीदों के चराग़ आज फिर तारों भरी रात ने दम तोड़ दिया ~साग़र सिद्दीक़ी
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rajesh Reddy Jun 18
मैंने तो बाद में तोड़ा था उसे आईना मुझपे हंसा था पहले -राजेश रेड्डी
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
कविता. :) Shayarcasm Jun 19
मैं नज़र भर के तिरे जिस्म को जब देखता हूँ पहली बारिश में नहाया सा शजर लगता है
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 19
मोहब्बत एक जैसी है, वफ़ाएँ एक जैसी हैं यहाँ मौसम बदलने पर हवाएँ एक जैसी हैं
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 20
वो चाँद है तो अक्स भी पानी में आएगा किरदार ख़ुद उभर के कहानी में आएगा ~इक़बाल साजिद
Reply Retweet Like
Abhimanyu Jha retweeted
Rekhta Jun 20
दिल ना-उमीद तो नहीं नाकाम ही तो है लम्बी है ग़म की शाम मगर शाम ही तो है
Reply Retweet Like